Adsense


 

--डिजिटल आणि सूक्ष्म श्रावण यंत्रांसाठी विश्वसनीय ठिकाण म्हणजे 'व्हिआर हीअरिंग'.. अधिक माहितीसाठी संपर्क :- 9657 588 677 @ www.vrhearingclinic.in



अक्सर पतियों को शिकायत होती है कि पत्नी ज्यादा खर्चा करती है तो पत्नी को शिकायत होती है कि पति उनको टाइम नहीं देते। रिश्तों में शिकायतें होना आम बात है, लेकिन अगर इन्हें हम सही तरीके से एक-दूसरे को बताते हैं तो अपने रिश्ते को टूटने से बचा सकते हैं।

कई बार ऐसा होता है कि हम सामने वाले से अपनी भावनाएं व्यक्त नहीं कर पाते हैं। ऐसे में गलतफहमियां होने लगती हैं और रिश्ता कमजोर पड़ने लगता है। इसलिए अगर आप अपना रिश्ता बचाना चाहते हैं तो अपनी भावनाओं को व्यक्त करना बहुत जरूरी है। आप जिसके लिए जैसा फील करते हैं, उसे वो जरूर बताएं। इससे रिश्ता मजबूत होगा और शिकायतें खत्म हो जाएंगी।
घुमा-फिरा कर बात ना करें

अक्सर हम सामने वाले शख्स को सीधे-सीधे बात करने की बजाए, घुमा फिरा कर बात करते हैं। घुमा फिरा कर बात करना, किसी भी गलतफहमी को जन्म दे सकता है। इसलिए हमेशा सटीक बात करें।

दिल की बात कहें

किसी भी रिश्ते में दिल की बात कहना बहुत जरूरी है। अगर कोई बात आपके दिल में रह जाती है तो जिंदगी भर उसका मलाल रहता है। इसलिए पहले सोच-विचार करें कि दिल की बात कैसे कहनी है, ताकि सामने वाला आपकी बात समझ सके। दिल की बात कहने से रिश्ता हमेशा समस्याएं आसानी से सुलझ जाती हैं।

समस्या जानने की कोशिश करें

सबसे जरूरी है, समस्या को जानना। कई बार आपके पार्टनर को शिकायतें होती हैं। समय आने पर वो सुलझ तो जाती हैं, लेकिन अपनी छाप भी छोड़ देती हैं। रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए समस्या का जड़ से खत्म होना बेहद जरूरी है। इसलिए कोशिश करें कि पार्टनर के साथ वक्त बिताएं और समस्याओं को जानकर उसे खत्म करें।

टिप्पणी पोस्ट करा

Previous Post Next Post